Yaar Ka Sataya Hua Hai is a new song by B Praak, Nawazuddin Siddiqui, and Shehnaaz Gill, released on September 3, 2023. The song is a heartbreaking ballad about a man who has been betrayed by his friend. The song's lyrics are about how the man is still in love with his friend, even though he has been betrayed. He sings about how he can't forget her, and how he still hopes that she will come back to him. The song's music is a slow and melancholic ballad that perfectly captures the song's heartbreaking message. B Praak's vocals are powerful and emotional, and Shehnaaz Gill's vocals are soulful and heartbreaking. The song's music video is also heartbreaking. It features Nawazuddin Siddiqui and Shehnaaz Gill as a couple who are in love, but who are eventually torn apart by betrayal. Yaar Ka Sataya Hua Hai is a powerful and moving song that will resonate with anyone who has ever been betrayed by someone they loved. It is a reminder that even the strongest relationships can be broken by betrayal. Here are some additional thoughts on the song and music video: The song's lyrics are heartbreaking and relatable, and they will resonate with anyone who has ever been betrayed by someone they loved. The song's music is a slow and melancholic ballad that perfectly captures the song's heartbreaking message. The song's music video is also heartbreaking, and it features Nawazuddin Siddiqui and Shehnaaz Gill as a couple who are in love, but who are eventually torn apart by betrayal. Overall, Yaar Ka Sataya Hua Hai is a powerful and moving song that is sure to leave a lasting impression on listeners. It is a must-listen for fans of B Praak, Nawazuddin Siddiqui, Shehnaaz Gill, and anyone who has ever been betrayed by someone they loved.

मुझे लगता था, नशे में तुझे भूल जाऊँगा
मुझे लगता था, नशे में तुझे भूल जाऊँगा
तू और याद आई तो लगा, ऐसा नहीं करते
तू और शराब दोनों एक जैसे हो
दोनों नशा करते हैं, वफ़ा नहीं करते
बहारों की रुत है, फिर भी मेरे...
बहारों की रुत है, फिर भी मेरे बाग़ का फूल मुरझाया हुआ है
शराब पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
शराब पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
हम पीते नहीं हैं, पिलाई गई
अब तक ना वो भुलाई गई
जो क़ब्रों पे बैठ के शायरी करे
वो ज़ख़्मों ने शायर बनाया हुआ है
शराब पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
मेरे यार, पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
हो, मैंने भिजवाई उसे झूठी ख़बर
कि दुनिया से दूर मैं पक्का हुआ
ओ, मैंने भिजवाई उसे झूठी ख़बर
कि दुनिया से दूर मैं पक्का हुआ
हो, तुझपे जो मरता था, मर गया Jaani
तुमने कहा, "चलो, अच्छा हुआ"
हो, लोगों को देखा, दफ़नाते हैं लोग
हो, मैंने मुझे दफ़नाया हुआ है
शराब पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
मेरे यार, पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
है रब यहाँ तो बात करे
हो, मुझसे कभी मुलाक़ात करे
है रब यहाँ तो बात करे
हो, मुझसे कभी मुलाक़ात करे
टूटे दिलों को जोड़े नहीं
कैसे वो दिन को रात करे (रात करे)
मैं सच बोलूँ, रब यहाँ है ही नहीं
बस लोगों ने पागल बनाया हुआ है
शराब पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
मेरे यार, पीते-पीते जिसके हाथ काँपते हों
ये समझो, वो यार का सताया हुआ है
मैं पागल हूँ, और बहुत पागल हूँ
मैं पागल हूँ, और बहुत पागल
पर ये भी बात है कि दिल सच्चा है
छीन तो लेता तुझको सर-ए-आम मैं
पर मसला ये कि शौहर तेरा आदमी अच्छा है

Comment: